मतदान हमारा अधिकार फिर भी क्यों हैं मतदान से वंचित?

0
1069
views
मतदान हमारा अधिकार फिर भी क्यों हैं मतदान से वंचित?

भारत में हर 5 साल में लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव होते हैं। भारत में मतदान करने के लिए आयु कम से कम 18 वर्ष या उससे अधिक होती है। निर्वाचन आयोग के अनुसार साल 2014 में 125 करोड़ जनसंख्या वाले देश भारत में 8,145 लाख लोग वोट करने का अधिकार रखते हैं। फिर भी उसमे से सिर्फ औसतन 65% जनता ही मतदान कर पाती है और बाकी मतदान से वंचित रह जाते हैं।

भारतीय मतदाता से जुड़े कुछ तथ्य :

भारत की 74.04% जनता साक्षर है, अर्थात् ये साक्षर जनता मतदान कर अपना उचित नेता चुन सकती है। लेकिन इस 74% साक्षर जनता में से 30% साक्षर जनता अपना कीमती मतदान देने से वंचित रह जाती है। इसका कारण है “Migration” अर्थात् “स्थानांतरण” मतलब रोजगार की तलाश में एक स्थान से दुसरे स्थान पर जाना। इस स्थानांतरण का कारण कुछ भी हो सकता है जैसे उच्च शिक्षा, रोज़गार की तालाश, आदि।

मतदान से वंचित रह जाने का मुख्य कारण :

माता-पिता अपने बच्चों को उपरोक्त छोटे शहर या गाँव में उच्च शिक्षा के साधन न होने के आभाव में पढने के लिए दूर शहर भेजते हैं और फिर उसी रोज़गार के आभाव में उन्ही बच्चों को दूर शहर में नौकरी करनी पड़ती है। नौकरी, पढाई आदि के कारण जो लोग दुसरे शहर गए होते हैं वो लोग मतदान के समय अपने शहर नहीं आ पाते और जहाँ वे लोग रह रहे होते हैं उस शहर में मतदाता सूचि में उनका नाम न होने के कारण वे लोग मतदान नहीं कर पाते। ऐसे साक्षर लोग अपने मतदान के अधिकार से न चाहते हुए भी मतदान से वंचित रह जाते हैं।

यह मतदान देश की आने वाली सरकार तय करने के साथ-साथ देश का भविष्य भी तय करते हैं। हमारी सरकार ऐसी होनी चाहिए जो देश की तरक्क़ी और विकास पर ध्यान दे, इसलिए सही सरकार का चुनाव बहुत आवश्यक है। अगर यह 30% साक्षर जनता वोट दे तो शायद उचित सरकार चुनी जा सके। लेकिन दूर शहरों में रह रहें लोगों के लिए अपने घर सिर्फ वोट देने जाना संभव नहीं हो पाता। कुछ हमारे देश के लोग भी जागरूक नहीं हैं।

मतदान के लिए अन्य तरीकों की जरुरत

अगर सरकार ऐसी सुविधा करे की लोग जहाँ रह रहें हैं वहीं मतदान कर पाए तो शायद यह 30% न होने वाले मतदान संभव हो पाए। आजकल प्रतिदिन नयी टेक्नोलॉजी आ रही, हम बैंकों में लाखों का पैसा सुरक्षित ट्रान्सफर कर सकते हैं। ऐसे में सरकार को ऐसी टेक्नोलॉजी की आवशयकता है जिससे लोग कहीं से भी वोटिंग कर पाए। तब ही सही सरकार का चुनाव हो पायेगा।

“Use YOUR RIGHT TO VOTE, CHOOSE YOUR OWN GOVERNMENT.”

हमारा सुझाव

बन गया मुद्दा के माध्यम से हमारा सरकार को सुझाव है की सरकार और चुनाव आयोग अपने मतदान केंद्र हर शहर में बनाये। जो लोग दूर गाँव या शहर से आये हैं वे लोग अपना वोट देने जब मतदान केंद्र जाये तो उनके अंगूठे की छाप और आधार कार्ड के माध्यम से उनका पुष्टिकरण कर के वे अपना वोट दे सकें। इससे सही माध्यम में सही सरकार का चुनाव हो पायेगा और देश के नागरिक भी जागरूक हो पायेंगे। ऐसे ही हमारे देश का सही दिशा में विकास हो पायेगा।

Source : [censusindia]